"थोथा चना बाजे घना" मुहावरे का सही अर्थ क्या है, उदाहरण सहित समझाइये?

"थोथा चना बाजे घना" एक हिंदी मुहावरा है, जिसका शाब्दिक अर्थ है कि खाली या अधूरे दाने बहुत शोर करते हैं। इसका भावार्थ यह है कि जो व्यक्ति ज्ञान और अनुभव में कम होता है, वह अधिक दिखावा करता है और अपनी बातों को जोर-शोर से प्रस्तुत करता है।

**उदाहरण:** 

1. अगर किसी मीटिंग में कोई व्यक्ति बार-बार बोल रहा हो लेकिन उसकी बातें सार्थक ना हों, तो कहा जा सकता है, "वो व्यक्ति थोथा चना बाजे घना वाली कहावत को चरितार्थ कर रहा है।"

2. किसी छात्र को अगर कम जानकारी होने पर भी अपनी जानकारी का दिखावा करना हो, तो कहा जा सकता है, "इसकी बातें सुनकर ऐसा लगता है कि थोथा चना बाजे घना।"

इस मुहावरे का उपयोग अक्सर उन लोगों के लिए किया जाता है जो अधिक बोलते हैं लेकिन उनके पास वास्तविक ज्ञान या अनुभव कम होता है।
Previous Post Next Post